आचार्य चाणक्य कहते हैं कि व्यक्ति को अपने जीवन में सफल होने के लिए इन 5 सवालों का जवाब मालूम होना चाहिए।

1. आचार्य कहते हैं कि हमें मालूम होना चाहिए कि हमारे सच्चे मित्र कौन हैं और मित्रों के वेश में शत्रु कौन - कौन हैं।

मित्रों के वेश में छुपे शत्रु को पहचाना बहुत जरुरी हैं। 

अगर अपने मित्रों में छुपे शत्रु को नहीं पहचान पाएंगे तो आपको आपके हर काम में असफलता मिलेगी।

2. आचार्य आगे कहते हैं जहाँ आप काम करते हो, वह स्थान, शहर तथा वहां के हालत कैसे हैं, कार्यस्थल पर काम करने वाले लोग कैसे हैं।

 इन बातों को ध्यान में रखते हुए काम करेंगे तो आपको हमेशा सफलता ही मिलेगी। 

3. आचार्य के अनुसार समझदार व्यक्ति वही हैं जो अपनी आय और व्यय की सही जानकारी रखता हैं।

व्यक्ति को अपनी आय को देख कर ही व्यय करना चाहिए। आय से कम खर्च करेंगे तो थोड़ा-थोड़ा ही सही पर धन इकठ्ठा हो सकता हैं। 

4. हमें इस बात को ध्यान में रखना चाहिए कि हमारा प्रबंध, संस्थान या कम्पनी   हम से क्या चाहता हैं। 

हमें ठीक वैसा ही काम करना चाहिए जिससे कंपनी या संस्थान को लाभ मिलता हो। 

 यदि संस्थान या कंपनी का लाभ होगा तो कर्मचारी को भी लाभ मिलने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। 

5. हमें यह मालूम होना चाहिए की हम क्या-क्या कर सकते हैं, उसी काम को अपने हाथ में लेना चाहिए। 

जिसे पूरा करने का सामर्थ्य मेरे पास हैं। यदि अपने शक्ति से अधिक काम अपने हाथ में लेलेंगे तो असफल होना तय हैं। 

 पढ़े देश के महान नेता अटल बिहारी वाजपेयी की जीवनी।