चाणक्य नीति: इन 5 जगहों पर घर बनाने से बर्बाद हो जाती हैं जिंदगी

आचार्य चाणक्य ने अपने एक श्लोक में बताया हैं कि किन जगहों पर घर नहीं बनवाना चाहिए।

वरना उसे कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता हैं।  

हमेशा घर बसाने के लिए ऐसे जगह का चुनाव करना चाहिए, जहाँ पर आजीविका के कई स्रोत मौजूद हो। 

2. आचार्य के अनुसार जहाँ पर लोक-लाज का भय नहीं होता वहां पर भी घर बसाने से बचना चाहिए।

जहाँ पर सामाजिक भाव सबसे ऊपर होता हैं, वहां पर घर बसाना सबसे अच्छा माना जाता हैं। 

3. आचार्य चाणक्य के अनुसार घर ऐसी जगह पर घर बसाना चाहिए जहाँ पर परोपकारी लोग रहते हैं और उनमे त्याग करने की भावना होती हैं। 

ऐसी जगह पर बसने से आपके अंदर भी परोपकार की भावना उतपन्न होती हैं। 

4. ऐसी जगह पर घर बसाने से हमेशा बचना जहाँ पर देश के नियम और कानून का डर न हो।

घर बसाने के लिए हमेशा ऐसी जगह का चुनाव करे जहाँ कानून व्यवस्था का लोग पूर्णरूप से पालन करते हो। 

5. घर हमेशा ऐसे स्थान पर बसाना चाहिए जहाँ पर दान पुण्य का काम होता हो। क्योंकि सनातन धर्म में दान करना बहुत ही पुण्य का काम माना गया हैं।