बिना किसी कोचिंग के 23वीं रैंक हासिल करके कैसे बनी तपस्या आईएएस।

देश के सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा माने जाने वाला यूपीएससी में जहाँ कुछ उम्मीदवार पहले प्रयास में सफल हो जाते वही अधिकतर छात्र असफल भी हो जाते हैं।

फिर कई प्रयासों के बाद उन्हें सफलता मिलती हैं।

आज हम इस वेब स्टोरी में मध्यप्रदेश के नरसिंह पुर के रहने वाली तपस्या परिहार की बात करने वाला हूँ।

जिन्होंने बिना किसी कोचिंग UPSC परीक्षा पास की।

और साल 2017 में ऑल इंडिया रैंक 23 प्राप्त करके आईएएस अधिकारी बनी।

तपस्या ने अपने स्कूल की शिक्षा केंद्रीय विधालय से पूरी की हुई हैं।

इसके बाद तपस्या कानून की पढ़ाई करने के लिए पुणे के इंडियन लॉ सोसाइटी के लॉ कॉलेज से कानून की पढ़ाई पूरी की।

एक रिपोर्ट के मुताबिक तपस्या कानून की पढ़ाई करके वकील बनना चाहती थी,लेकिन फिर UPSC के परीक्षा देने का फ़ैसला किया।

यूपीएससी परीक्षा के लिए तपस्या ने एक कोचिंग ज्वाइन की थी, लेकिन पहले प्रयास में ही UPSC प्री - परीक्षा में असफल हो गई।

इसके बाद तपस्या बिना किसी कोचिंग के पढ़ाई करने की  मन बना ली।

और अपने सेल्फ स्टडी पर ध्यान देने लग गई।

जब तपस्या दूसरी प्रयास के लिए पढ़ाई करना शुरू की तब उनका टारगेट था ज्यादा से ज्यादा नोट्स बनना और अंसार पेपर को हल करना।

तपस्या की यह रणनीति 2017 में रंग लाई और 23वीं रैंक प्राप्त की। और फिर इनको आईएएस के लिए चुन लिया गया ।